संजय गोयाल के बारे में




श्री संजय गोयल जी का जन्म हरियाणा के एक छोटे से गांव हथीन में एक अध्यापक एवं बाद में एक मेहनतकश उद्योगपति श्री चन्द्र प्रकाश अग्रवाल एवं समर्पित गृहणी श्रीमती पुष्पा देवी के घर हुआ। आप चार भाइयों एवं एक बहन के परिवार में सबसे बड़े सदस्य हैं।


इन्होने अल्प आयु में स्कूली शिक्षा पूर्ण करते ही पारिवारिक किराना स्टोर की जिम्मेदारी को पूर्ण निष्ठां के साथ निभाया।



आपने 80 के दशक में 11वीं एवं 12वीं की शिक्षा विवेक विहार के उच्च माध्यमिक विद्यालय मंगल पाण्डेय से पूर्ण किया, उसके बाद दिल्ली विश्वविद्यालय के भगत सिंह कॉलेज से बी कॉम ऑनर्स की डिग्री प्राप्त किया, तत्पश्चात दिल्ली विश्वविद्यालय से एलएलबी की डिग्री पूर्ण की। आपने पूर्ण निष्ठां के साथ पिताजी के उद्योग की शुरुआत की, आपने बीते 30 वर्षों में सफल उद्योग के माध्यम से लाखों रुपये सरकार को कर के रूप में दिए, और स्थानीय समुदायों को सैंकड़ों रोजगार दिए। स्वास्थ्य की दृष्टि से 1991 में आपने जरूरत मंद गरीब लोगों के लिए अपने पूज्य पितामह स्व0 श्री सुन्दर लाल जी के नाम पर सुन्दर लाल मेमोरियल चैरिटेबल अस्पताल दिलशाद गार्डन पूर्वी दिल्ली में प्रारम्भ किया। अस्पताल द्वारा हज़ारों मरीजों को निरन्तर स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान कर रहा है।


राष्ट्र उत्थान की भावना से ओतप्रोत होकर आप 1991 में भारत विकास परिषद् के सक्रिय सदस्य बने, आपने आने
वाली पीढ़ियों के सुनहरेभविष्य के लिए सामाजिक बुराईयों/कुरीतियों को दूर करने हेतु महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।



आप साल 1993 में भारतीय जनता पार्टी से जुड़े, आप बीते वर्षों में पार्टी के विभिन्न दायित्वों- जिसमे अनारकली मंडल प्रभारी, जिला बूथ संयोजक के पद का सफल निर्वहन करते हुए वर्तमान में शाहदरा जिला उपाध्यक्ष के पद पर कार्यरत हैं। आपके द्वारा सफलतापूर्वक महिला उत्थान एवं शिक्षा के क्षेत्र में सकारात्मक बदलाव लाया गया, आपने चौपाल के द्वारा ऋण प्रदान कर कामकाजी महिलाओं को भी सहयोग प्रदान किया।


आपके मार्गदर्शन में निम्न आय वर्ग के बच्चों की शिक्षा के महत्व को समझते हुए शिशु भारती शिव मन्दिर विद्यालय का
सफल संचालन किया गया, अल्पकाल में ही विद्यालय आत्मनिर्भर बनकर जनता की सेवा में सक्रिय भूमिका निभा रहा है।


आपके निजी प्रयासों द्वारा जनता के लाभ हेतु प्रभावशाली सामाजिक कार्य सम्पन्न किए गए हैं, आपने विवेक विहार क्षेत्र के स्वर्णिम भविष्य को ध्यान में रखते हुए 2017 में नगर निगम का चुनाव लड़ा एवं विवेक विहार सीट से निगम पार्षद के चुनाव में भारी बहुमत से विजयश्री प्राप्त कर 15 वर्षों से निरंतर चले आ रहे कांग्रेस के प्रभुत्व को धराशाई किया। चुनाव जितने के बाद से ही पूर्ण सकारात्मकता के साथ नागरिकों के जीवन में दूरगामी बदलाव के लिए निरंतर कार्यरत है।


Priorities


अंग्रेजी